• Thu. May 26th, 2022

बिहार में उद्योगपतियों के लिए रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक बिजली15 प्रतिशत कम दर पर मिलेगी।

Bystaff

Jan 11, 2022

पटना : बिहार में बिजली विभाग ने जबरदस्त योजना लाई है। इसके तहत रात में बिजली का इस्तेमाल करने वालों को सस्ती बिजली मिलेगी। रात 11 बजे से सुबह 5 बजे बिजली के इस्तेमाल करने पर बिजली 15 प्रतिशत कम दर पर मिलेगी। वहीं, सामान्य समय में बिजली की सामान्य दर लेगी। हालांकि यह छूट कल-कारखाने चलाने वालों को मिलेगी। बिजली कंपनी ने टाइम ऑफ डे (टीओडी) में बदलाव करने की सोची है। इससे जुड़ा प्रस्ताव बिजली कंपनी ने बिहार विद्युत विनियामक आयोग को भी भेज दिया है। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि सूबे में रात में फैक्ट्री या अन्य कोई बड़ी यूनिट चलाने पर उद्योगपति को बिजली सस्ती मिलेगी। इस योजना से छोटे और बड़े उद्योगपतियों को काफी फायदा होगा। फिलहाल अलग-अलग समय में अलग-अलग बिजली की दर नहीं लगती है। एक निर्धारित दर जो सभी समय और समय लोगों पर लागू होती है। नई योजना का नाम कंपनी टीओडी दिया है। इसमें पीक पीरियड में महंगी और ऑफ पीक पीरियड में सस्ती बिजली दी जाएगी। बिहार विद्युत विनियामक आयोग से प्रस्ताव को मंजूरी मिलने ही इसे लागू कर दिया जाएगा। वैसे अधिकारियों का कहना है कि हम अप्रैल से ही लागू करना चाहते हैं। इस योजना का लाभ सवा लाख से ज्यादा उद्योगपतियों को मिलने वाला है। बता दें उत्तर बिहार से ज्यादा दक्षिण बिहार में उद्योग वाले कनेक्शन हैं। साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के अंडर 31 मार्च 2021 तक 66 हजार 822 छोटे कारोबारी हैं। जबकि बड़े कारोबारियों की संख्या 4895 है। इतना ही नहीं 200 पीडब्ल्यूडब्ल्यू कनेक्शन भी हैं। वहीं, नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के अंडर 53891 छोटे उद्योगपति हैं। वहीं, बड़े उद्योगपति और पीडब्ल्यूडब्ल्यू कनेक्शन मिलाकर 1200 हैं।
किन्हें मिलेगा फायदा
बिजली कंपनी ने बताया है कि यह योजना बड़े उद्योगपतियों पर अनिवार्य रूप से लागू होगी। छोटे उद्योगपतियों और पब्लिक वाटर्स यूजेस के उपभोगकर्ता पर भी यह लागू होगा। इधर, बिजली नहीं होने के कारण सूबे में कई योजनाएं बाधित हो गईं। सात निश्वचय योजना अंतर्गत हर घर नल का जल कई ग्रामीण क्षेत्रों में बंद है। दर्जनों गांवों में हर घर नल का जल योजना के तहत पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि जहां पर पानी आपूर्ति बंद है, वहां क्षेत्रीय स्तर पर बिजली के लो वोल्टेज और तार-पोल की स्थिति खराब है। इसको लेकर बिजली विभाग के सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव ने जल्द गड़बड़ियों को दूर करने के लिए कहा है। इन्होंने सभी कार्यपालक अभियंताओं को पत्र भेजा है।