छापेमारी में सोने की बिस्कुट ही नहीं सोने का कलम भी मिला सासाराम के नगर आयुक्त सह भू-अर्जन पदाधिकारी के 3 ठिकानों पे

सासाराम के नगर आयुक्त सह भू-अर्जन पदाधिकारी राजेश कुमार गुप्ता के तीन ठिकानों पर निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने छापेमारी की। छापेमारी में नगर आयुक्त के ठिकानों से 21.72 लाख नकद, पांच सोने के बिस्किट, 61 लाख 67 हजार मूल्य के जेवरात, सोने की एक कलम के अलावा फ्लैट और जमीन के कागजात मिले हैं।
निगरानी ब्यूरो ने तीन टीम बनाकर अभियुक्त राजेश कुमार गुप्ता के सासाराम, पटना एवं फारबिसगंज में शनिवार की सुबह छापेमारी शुरू की। सासाराम में करीब आठ बजे सुबह से डीएम कॉलोनी स्थित आवास पर छापेमारी टीम ने धावा बोला और वहां से नकद, भूखंड से संबंधित दस्तावेज व जेवरात बरामद किए। वहीं, पटना व फारबिसगंज में भी अन्य टीमों ने छापेमारी की। निगरानी ब्यूरो ने नगर आयुक्त के खिलाफ वैद्य स्रोतों से लगभग 90 लाख 11 हजार 984 रुपये अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप में निगरानी थाना कांड संख्या- 047/2021, दिनांक 25.11.2021 दर्ज किया था। इसके बाद सक्षम न्यायालय से सर्च वारंट के आधार पर राजेश गुप्ता के फारबिसगंज एवं पटना स्थित निजी आवास एवं सासाराम स्थित सरकारी आवास पर छापेमारी की गई।
निगरानी ब्यूरो से मिली जानकारी के अनुसार कांड के अनुसंधान के क्रम में राजेश गुप्ता के विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी के दौरान 21.72 लाख रुपये नकद के अलावा पटना स्थित छह फ्लैट के कागजात, पूर्णिया में चार बीघा जमीन व रांची में 55 हजार वर्गफीट जमीन के कागजात, जिसमें मकान भी निर्मित है, विभिन्न बैंकों के 25 पासबुक तथा छह एटीएम तथा दो लॉकर भी बरामद किया गया है। विभिन्न शहरों के जमीन से संबंधित 39 डीड एवं एलआईसी से संबंधित कागजात बरामद किए गए हैं।
भू-अर्जन पदाधिकारी राजेश गुप्ता सोने की बिस्कुट के साथ ही सोने की कलम भी रखते थे। छापेमारी के क्रम में पांच सोने के बिस्कुट एवं सोने की एक कलम भी मिली है। कलम की कीमत करीब 46 हजार रुपये आंकी गयी है। इसके अतिरिक्त दो मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है। निगरानी ब्यूरो की छापेमारी देर शाम तक जारी थी।
निगरानी ब्यूरो के अनुसार राजेश गुप्ता द्वारा दाखिल किए वार्षिक संपत्ति विवरणी में कई निवेशों का उल्लेख नहीं किया गया है। अनुसंधान के क्रम में निवेश संबंधी दस्तावेजों की जांच से और अधिक संपत्ति अर्जित किए जाने की सूचना मिल सकती है। गौरतलब है कि एक दिन पूर्व विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) ने राज्य के खनन मंत्री जनक राम के आप्त सचिव के पास से करोड़ों की संपत्ति जब्त की थी। वहीं, उनकी महिला मित्र के यहां से सोने के बिस्किट और संपत्ति के दस्तावेज बरामद किए थे।

source 

 

Previous post दिल्ली से लौटने के बाद मुख्यमंत्री ने जातीय जनगणना और शराबबंदी पर कही ये बातें
Next post सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर थानों में लगे सीसीटीवी के साथ छेड़छाड़ कर रही बिहार पुलिस