उपचुनाव से पहले रैली में गरजे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

उपचुनाव से पहले रैली में गरजे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

कुशेश्वर स्थान व तारापुर उप चुनाव की गर्मी सोमवार से बढ़नी शुरू हो गयी। चुनावी रैली में संबोधन के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि आज के दौर में लोग सोशल मीडिया पर पुरानी बातों को भुला रहे हैं। वहां भी पूछे कि पति-पत्नी ने क्या किया? सीएम नीतीश कुमार ने नाम न लेते हुए लालू यादव और राबड़ी देवी पर निशाना साधा।
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि आजकल सोशल मीडिया का दौर है। हमारी बात पहले अपने आप घर तक पहुंच जाती थी। आजकल सोशल मीडिया से पुरानी बातों को भुलाया जा रहा है। पति-पत्नी के राज में क्या हुआ क्या किया। उन्हें सिर्फ अपने परिवार की चिंता है। हमारे लिए तो पूरा बिहार ही एक परिवार है। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी सरकार में किसी भी तबके के साथ कोई उपेक्षा नहीं की गई। जनता मालिक है, वोट देना उनका अधिकार है। हम कई दिनों से काम कर रहे हैं। हमारे कार्यों को देखिए। पहले महिलाओं की क्या स्थिति थी, आज महिलाओं के लिए तेजी के साथ काम कर रहे हैं।
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि स्कूल में कितने लोग पढ़ते थे। स्कूल से कितने लोग बाहर रहते थे। लड़कियां स्कूल नहीं जाते थी। कपड़े नहीं होते थे तो बच्चे और लड़कियां स्कूल नहीं जाते थे। हमने पोशाक योजना चलाई। उन्होंने कहा नौवीं के बाद लड़किया साइकिल से स्कूल जाने लगीं। कुछ लोगों ने हमारी अलोचना की कि लड़कियों से साइकिल चलवा रहे हैं। हमने कहा हर घर में लड़कियों को साइकिल दी जा रही है। कैसे कोई तंग करेगा। सीएम ने कहा कि लड़कों से ज्यादा मैट्रिक की परीक्षा लड़कियों ने दी है।
मंच पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी सहित कई मंत्री और विधायक मौजूद रहे। 30 अक्टूबर को कुशेश्वर स्थान और तारापुर विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होना है। वोटों की गिनती दो नवंबर को होगी। अक्टूबर-नवंबर 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में इन दोनों सीटों पर जेडीयू के विधायक जीत कर आए थे है लेकिन उनके निधन के बाद यह दोनों सीटों रिक्त हो गई हैं। दूसरी ओर आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी रविवार को पटना पहुंच चुके हैं। 26 और 27 को लालू यादव कुशेश्वर स्थान और तारापुर में अपनी पार्टी के प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार करेंगे। लालू यादव के बिहार आने से आरजेडी के नेता और कार्यकर्ता उत्साहित हैं।

Previous post लालू यादव के पटना वापसी के बाद तेज प्रताप का धरना वोटरों के लिए ड्रामा था या सच में वो तेजस्वी को अर्जुन बनाना चाहते है!
Next post क्या दिल्ली क्या पटना !!! सभी जगह पसर रहा है डेंगू